वाराणसी में गंगा खतरे के निशान से 78 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है।

वाराणसी में बाढ़ का कहर, पीएम मोदी ने की डीएम से बात, कहा- किसी भी प्रकार की आवश्यकता हो तो तत्काल बताएं, हम हरसंभव मदद करेंगे
वाराणसी में गंगा खतरे के निशान से 78 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। सुबह 10 बजे गंगा का जलस्तर 72.04 मीटर दर्ज किया गया है। यह खतरे के निशान से 0.78 मीटर अधिक है। यहां 58 गांव बाढ़ से घिरकर टापू बन गए हैं। 31 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार सुबह वाराणसी के जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को फोन किया और अपने संसदीय क्षेत्र में आई बाढ़ का हाल जाना है। प्रधानमंत्री ने डीएम से कहा कि किसी भी प्रकार की आवश्यकता हो तो तत्काल बताएं, हम हरसंभव मदद करेंगे।
गंगा में उफान से वरुणा, असि, गोमती, नाद और कैथी नदी में भी बाढ़ आ गई है। बाढ़ के चलते शहर से लेकर गांवों तक 58 गांव, मोहल्ला और वार्ड के 31 हजार से ज्यादा लोग अब तक प्रभावित हुए हैं।
8 साल पुराना रिकॉर्ड टूटने के आसार
जिस तरह से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है और बारिश के आसार हैं उसे देखकर विशेषज्ञों का कहना है कि गंगा साल 2013 का 72.63 मीटर का रिकार्ड इस बार तोड़ सकती है। वाराणसी में गंगा का बाढ़ का उच्चतम बिंदु 73.90 मीटर साल 1978 में दर्ज किया गया था।

What do you think?

बिहार मे बड़ी बेरहमी से पत्रकार का मर्डर, हत्या के बाद बदमाशों ने निकाली आंख

75 स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।