वाराणसी कमिश्नर ने निर्माणाधीन पुलों व आरओबी का किया स्थलीय निरीक्षण

वाराणसी/दिनांक 09 अक्टूबर, 2020(सू0वि0)

कमिश्नर ने तूफानी दौरा कपसेठी, कालिका धाम, आशापुर, कोनिया, कज्जाकपुरा के निर्माणाधीन पुलों व आरओबी का किया स्थलीय निरीक्षण

समय से गुणवत्तायुक्त व सेफ्टी मेजर अपनाते हुए कार्य पूर्ण करें-कमिश्नर

आरओबी के साथ सर्विस लेन प्राथमिकता पर पूर्ण कर लें-दीपक अग्रवाल

       कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने सेतु निगम द्वारा निर्माणाधीन आरओबी आशापुर, कपसेठी, कज्जाकपुरा तथा वरुणा नदी पर बन रहे पुल कालिका धाम, कोनिया का शुक्रवार को स्थलीय निरीक्षण किया।
       कपसेठी आरओबी के निरीक्षण में कमिश्नर ने कार्य की गुणवत्ता के बारे में पूछताछ की। 38.10 करोड़ रुपए की लागत से स्वीकृत इस आरओबी में 45 फ़ीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है। पूरा पैसा राज्य सरकार बहन कर रही है। इसका रेलवे के ऊपर का भाग रेलवे द्वारा बनाया जा रहा है। कमिश्नर ने आरओबी के ऊपर बरसाती पानी के निकासी की समुचित व्यवस्था करने, सर्विस रोड समुचित व उपयोगी बनाने व सेफ्टी मेजर को अपनाते हुए निर्धारित समय 21 जून तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।
       19.13 करोड़ रुपए लागत से निर्माणाधीन कालिका धाम वरुणा पुल का कार्य चल रहा था इसमें तीन स्पान बन गए हैं एक और बनना है। कमिश्नर ने इस पुल को अतिमहत्वपूर्ण बताते हुए यहां श्रमिकों की संख्या बढ़ाकर युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर इसे पूर्ण करने के निर्देश दिए। शासन द्वारा निर्माण के लिए 15.31 करोड़ रुपए धनराशि अवमुक्त कर दिया गया है। आशापुर आरओबी के निरीक्षण में पाया गया कि तेजी से कार्य चल रहा था। 75 फ़ीसदी कार्य पूर्ण भी हो चुका है। कमिश्नर ने सर्विस लेन प्राथमिकता पर बनाने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे आवागमन में सुविधा होगी। इस पुल के निर्माण कार्य को पूर्ण करने के लिए शासन द्वारा फरवरी, 2021 का समय निर्धारित किया गया है, लेकिन कमिश्नर ने श्रमिकों की संख्या बढ़ाकर युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर इसे इसी वर्ष के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया।
       26.21 करोड़ रुपये लागत से 100 मीटर लंबे निर्माणाधीन कोनिया घाट वरुणा पर पुल के निरीक्षण में पाया गया कि मौके पर कार्य बंद था। सेतु निगम के अभियंता ने बताया कि नदी में पानी बढ़ने से कार्य रोका गया है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने तत्काल कार्य शुरू कराने का निर्देश दिया। इस पुल का लगभग 40 फ़ीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है। सेतु निगम के अभियंता द्वारा बताया गया कि इस पुल का निर्माण कार्य फरवरी, 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा। 62.78 करोड़ रुपए लागत से 1355 मीटर लंबे निर्माणाधीन कज्जाकपुरा आरओबी के निरीक्षण के दौरान सेतु निगम के अभियंता ने बताया कि इसमें बीच में सीवर लाइन आ रही है, इसलिए रिवाइज्ड इस्टीमेट व डिजाइन शासन को भेजी जा रही है। स्वीकृत एवं जहां बदलाव नहीं होना है वहाँ कार्य प्रारंभ करा दिया गया है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने इसमें अच्छे एक्सपर्ट से सुझाव लेकर संशोधित लेआउट करने जोर दिया, ताकि आरओबी बनाने के बाद कोई परेशानी नहीं आए और आरओबी की उपयोगिता सफल हो।
       कमिश्नर ने निर्माणाधीन आरओबी व पुलों के निर्माण में सेफ्टी मेजर का विशेष ध्यान रखने पर जोर दिया। ताकि कोई अप्रिय घटना किसी भी दशा में न होने पाए। कमिश्नर ने कहा कि उक्त आरओबी व पुलों के निर्माण से बनारस के सड़क मार्ग जो अन्य जनपदों यथा- प्रयागराज, आजमगढ़, चंदौली, गाजीपुर को जाने में सुगमता होगी। कज्जाकपुरा आरओबी शहर के भीतरी भाग के यातायात को सुगम करेगा।
      निरीक्षण के दौरान मुख्य परियोजना प्रबंधक दीपक गोविल, उप परियोजना प्रबंधक सेतु निगम रोहित मिश्रा सहित कार्यदाई संस्था के अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

What do you think?

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन

यूपी सरकार ने कक्षा 9 से 12 तक के विद्यालय खोलने की सशर्त अनुमति दी