गुलाम नबी आजाद अब बोले-कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए CWC चुनाव जरूरी

नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) के 23 नेताओं की सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखी गई चिट्ठी के बाद से ही नए अध्यक्ष को लेकर पार्टी हलकों में चर्चा जारी है. वहीं अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कहा है कि पत्र में लिखी बात को दोहराते हुए कहा है कि कांग्रेस की पूरी कार्यसमिति (Congress Working Committee) का चुनाव होना चाहिए. आजाद ने कहा कि जिस किसी की भी कांग्रेस के आंतरिक कामकाज में वास्तविक रुचि है, वह हमारे प्रस्ताव को हर राज्य और जिला अध्यक्ष के रूप में चुने जाने का स्वागत करेगा. पूरी कांग्रेस कार्य समिति का चुनाव होना चाहिए. कांग्रेस नेताओं द्वारा लिखी गई चिट्ठी में संगठन में सुधार करने की मांग की गई थी जिसे लेकर सीडब्लूसी की बैठक में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी चला था.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारा इरादा कांग्रेस को सक्रिय और मजबूत बनाने का है. लेकिन जिन लोगों को केवल ‘अपॉइंटमेंट कार्ड’ मिले, वे हमारे प्रस्ताव का विरोध करते रहे. सीडब्ल्यूसी के सदस्य चुने जाने में क्या हर्ज है, इन सदस्यों के पार्टी में स्थिर कार्यकाल होंगे. वहीं इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने उत्तर प्रदेश की लखीमपुर खीरी की जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग से जुड़ी खबर की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को कहा कि पार्टी को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि भाजपा को ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ से निशाना बनाने की जरूरत है.

बता दें कि जिन नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी इनमें पत्र पर हस्ताक्षर करने वालों में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल, शशि थरूर, मनीष तिवारी, आनंद शर्मा, पीजे कुरियन, रेणुका चौधरी, मिलिंद देवड़ा और अजय सिंह शामिल हैं. इनके अलावा सांसद विवेक तन्खा, सीडब्ल्यूसी सदस्य मुकुल वासनिक और जितिन प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, राजेंद्र कौर भट्ठल, एम वीरप्पा मोइली और पृथ्वीराज चव्हाण ने भी पत्र पर दस्तखत किए हैं.

What do you think?

SmartCompany Street View Privacy Issues Raised Again

Coronavirus Vaccine Update: कोरोना पर कितनी प्रभावी रहेगी देसी वैक्सीन, जानें अपडेट्स